पैन कार्ड पर अब मां का नाम भी

0
122

आयकर विभाग ने पैन कार्ड के नियमों में जो बदलाव किया है, उसके आधार पर अब पैन कार्ड में मां का नाम भी लिखा जाएगा। आयकर विभाग की ओर से पैन कार्ड में मां का नाम लिखने के नए नियम के कारण उन महिलाओं को बहुत बड़ा आधार मिलेगा जो अकेले अपने बच्चों का पालन पोषण करती हैं। तलाक या अन्य कारणों से अपने बच्चों के साथ रहने वाली मांताओं को पैन कार्ड में स्थान मिलने से पुरुषों की बराबरी का स्थान मिल गया है। आयकर विभाग के इस निर्णय का सामाजिक संगठनों की ओर से जोरदार स्वागत किया गया है।

सीबीडीटी की ओर से जारी अधिसूचना में आयकर विभाग की ओर से किए गए बदलाव के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई है। पैन कार्ड बनवाने के लिए दिए जाने वाले आवेदन में आवेदक, पिता और माता में किसी का भी नाम लिख सकता है। आयकर विभाग ने इनकम टैक्स नियम 144 में बदवाल करके एक मसौदा तैयार किया है। विभाग के पास इस आशय के कई आवेदन भेजे गए थे, जिनमें कहा गया था कि अगर कोई तलाकशुदा या विधवा महिला पैन कार्ड के लिए आवेदन कर रही हो तो उसे पिता या पति का नाम डालने की बाध्यता को समाप्त किया जाए। उक्त आवदेन पर गंभीरतापूर्वक विचार करके के बाद आयकर विभाग ने पैन कार्ड के आवेदन पर मां के नाम का एक अतिरिक्त कालम रखने के बारे में निर्णय लिया।

जिनके माता-पिता का तलाक हो चुका है और आवेदनकर्ता अगर अपनी मां के साथ रहता है तो ऐसे लोगों को अपना पैन कार्ड बनवाने में अनेक समस्याओं का सामना करना पड़ता है। पैन कार्ड बनवाने के लिए वर्तमान में जो नियम हंै, उसमें पिता का नाम आवेदन में लिखना जरूरी है। केंद्रीय महिला एवं बाल कल्याण मंत्री मेनका गांधी ने पैन कार्ड में पिता के नाम के साथ माता के नाम का एक अतिरिक्त कालम भी रखने की सलाह दी थी। नियम में बदलाव होने के बाद अकेले रहने वाली महिला की संतानों को बहुत लाभ मिलेगा। 31 मई से पहले इस श्रेणी के अंतर्गत आने वाली महिलाओं को आवेदन करना अनिवार्य है। एक वर्ष में पांच लाख रुपये से ज्यादा खरीदी तथा बिक्री से मिलने वाली धनराशि हो तो ऐसे लोगों को पैन कार्ड बनवाना आवश्यक है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here