नए तरह का संयुक्त परिवार

वर्षों से हम देख रहे हैं कि परिवार का रूप सिकुड़ता जा रहा है। आज से पचास साल पहले संयुक्त परिवार का मतलब घर...

बहानेबाज ‘बहनजी’

कौन ऐसी पार्टी है, जिसका अध्यक्ष चुनाव मैदान में सेनापति की भूमिका निभाने के लिए स्वयं उम्मीदवार नहीं है? जिसे प्रधानमंत्री की दावेदारी में...

पूरे देश की नजर महाराष्ट्र पर

भाजपा-शिवसेना का गठबंधन 2014 में जीती अपनी सीटों को बरकरार रखता हुआ नजर आ रहा है। अपनी सीटों को बचाने में इस गठबंधन को...

गठबंधन में पिछड़ा यूपीए

मंचों पर सभाओं में एक साथ नजर आने वाले विपक्षी दल चुनाव में गठबंधन नहीं कर पाए। इसके विपरीत यूपीए की तुलना में एनडीए...

कांग्रेस पर भारी भाजपा

उत्तराखंड की चुनावी बिसात पर भाजपा और कांग्रेस के बीच सीधा मुकाबला होगा। भले ही, प्रदेश में सपा और बसपा के बीच गठजोड़ है,...

मुद्दे की बात ‘राष्ट्रवाद’

चुनावी महासमर में मुद्दा मायने रखता है। विरोधी को परास्त उन्हीं के सहारे किया जाता है। विपक्ष ने जाने-अनजाने वह मौका सत्ता पक्ष को...

आधुनिक जीवन का आधार राष्ट्रीयता है!

संविधान सभा में पंडित जवाहरलाल नेहरू के लक्ष्य संबंधी प्रस्ताव पर दूसरे चरण की बहस महीने भर बाद फिर से शुरू हुई। इस अवधि...

बदल गए रोजगार के मायने

पिछले दिनों एक एजेंसी की रिपोर्ट आई, जिसमें यह कहा गया कि बेरोजगारी की दर बहुत बढ़ गई है। लोगों को उतने रोजगार नहीं...

कठिन चुनौती में दिग्विजय

चार महीने पहले तक चौराहे पर पस्तहाल पड़ी कांग्रेस को खड़ा करके सत्ता के शिखर पर पहुंचाने के लिए पसीना बहाते रहे पूर्व मुख्यमंत्री...

अबकी बार आतंक की जड़ पर प्रहार

मौका था गौतम गंभीर को भारतीय जनता पार्टी में शामिल करने की घोषणा का। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि मोदी सरकार मानती...