ताजा पोस्ट

टूटते-बनते ये फिल्मी रिश्ते

ऐसी एक भी मिसाल नहीं है कि किसी हीरो ने हीरोइन पत्नी के करिअर को संवारने के लिए खुद घर बैठना मंजूर किया हो। करिअर के आखिरी मुहाने पर हीरो-हीरोइन का रिश्ता निभ जाता...

आधुनिक समस्याओं का सनातन समाधान

  हमारे देश की वैचारिक बहसों में ‘पश्चिमी संस्कृति बनाम भारतीय संस्कृति’ का मुद्दा अक्सर विमर्श के केंद्र में होता है। पश्चिमी संस्कृति यानी वह जीवन-दर्शन, जो प्रकृति को जीतकर आगे बढ़ने की बात करता...

चेचर : हर काल समाया है यहां की गंगा में!

आज 28 गांवों वाला चेचर ग्राम समूह, मूल वैशाली साम्राज्य होने का दावा करता है। रामपुकार सिंह आज करीब सौ साल के होने वाले हैं। आंखों में रोशनी नहीं है लेकिन चमक बरकरार है। उन्हे...

आधी आबादी का पूरा हक

कंज्यूमर प्रोडक्ट बनाने वाली एक कंपनी के विज्ञापन का मशहूर पंच लाइन है-हक से मांगो। भारत में ट्रैफिक हवलदार से लेकर कचहरी के पेशकार तक यही करते हैं। बॉलीवुड वालों ने भी इस दर्शन...

राजनीतिक फलक पर तालिबान!

भारत-पाकिस्तान-रूस-चीन-ईरान जैसे पड़ोसी देशों के साथ-साथ, पूरी दुनिया की निगाहें, इस वक्त अफगानिस्तान पर लगी हुई हैं। अमेरिका ने 2001 से अफगानिस्तान में मौजूद,अपने सैनिकों को अगले एक-डेढ़ साल में वापस बुलाने का फैसला...

नाभिकीय हथियारों की नई प्रतिस्पर्धा

अमेरिका का राष्ट्रपति बनने के बाद डोनाल्ड ट्रम्प ने अमेरिका की विदेश नीति में जो परिवर्तन किए हैं उनमें सबसे महत्वपूर्ण रूस से मध्यम दर्जे की नाभिकीय मिसाइलों को लेकर हुई संधि को निरस्त...

अखिलेश की चुनौती शिवपाल!

सपा-बसपा गठबंधन तो बन गया। दोनों दल 38-38 सीटों पर चुनाव लड़ने की घोषणा भी कर चुके हैं। लेकिन गठबंधन की गांठें अभी तक सुलझ नहीं पायी हैं। उच्च नेतृत्व की बात करें तो...

राहुल कब तक बांट पाएंगे खैरात?

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने जिस दिन छत्तीसगढ़ में कहा कि उनकी पार्टी सत्ता में आई तो देश में हर गरीब को न्यूनतम आय की गारंटी देगी। उसी दिन से सार्वजनीन बुनियादी आय (यूनिवर्सल...

परंपरा और संस्कृति की ओर

असम और पूर्वोत्तर का वनवासी समाज बदल रहा है। वह अपनी पुरानी परंपराओं की ओर लौट रहा है। इसमें सहायक हो रहे हैं विद्या भारती, संस्कार भारती, वनवासी कल्याण आश्रम और इस्कान जैसे स्वयंसेवी...

जींद में जीत के मायने

जींद सीट जाटलैंड मानी जाती है। यह सीट भाजपा के लिए एक बंजर भूमि की तरह ही थी। पिछले पांच दशकों में जींद में कमल नहीं खिला था। इस चुनाव में भाजपा ने मुख्यमंत्री...