25.8 C
delhi
Sunday, November 18, 2018

भारत के आक्रामक होने का सही समय

बात चाहे बलूचिस्तान में मानवाधिकार हनन के लंबे इतिहास और उसके कारण समाज के दिलो दिमाग पर खिंची दर्द की गहरी लकीरों की पृष्ठभूमि...

भारत परिवार

संघ परिवार के बारे में आपने अवश्य सुना होगा। अच्छा या बुरा, जो भी हो। 20 अगस्त की शाम को इंदिरा गांधी इंडोर स्टेडियम...

मंदिर चाहिए कानून से

विश्व हिंदू परिषद के कार्याध्यक्ष आलोक कुमार मोदी सरकार को ‘रामभक्तों’ की सरकार कहते हैं। उन्होंने उम्मीद जतायी, ‘देश में करोड़ों हिंदुओं की भावनाओं...

कमल या कमलनाथ?

मध्य प्रदेश में चुनाव की रणभेरी बज चुकी है। समर में भिड़ने को तैयार पार्टियों की कसमसाहट और बेचैनी साफ दिखाई देने लगी है।...

एक मौत का तमाशा

तारीख 22 अप्रैल। दिन के दस बज रहे थे। धूप भी तीखी हो चली थी। जंतर-मंतर पर लोगों का हुजूम धीरे-धीरे पहुंच रहा था।...

दो साल चलेगा स्मरण का सिलसिला

1969 में गांधी जन्म शताब्दी के अवसर पर सरकार एवं गांधीवादी संस्थाएं एक साथ थीं। गांधी जन्म शताब्दी के अवसर पर गांधीवादियों की योजना...

स्वस्थ भारत पर सचिन तेंदुलकर ने की पहल

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सचिन तेंदुलकर ने महाराष्ट्र के राज्यपाल विद्यासागर राव से आग्रह किया है कि खेल को पाठ्यक्रम का अभिन्न हिस्सा...

खतरे में विश्वविद्यालयों की आजादी

रामजस विवाद पर अखबारों में काफी कुछ लिखा गया है। मेरा आशय उनमें छपे लेखों से है, समाचारों से नहीं। यह सिलसिला अभी चलेगा।...

खाकी में नहीं फबती हीरोइन!

इन दिनों अपने देश में कम और अमेरिका में ज्यादा धूम मचा रही प्रियंका चोपड़ा के लिए फिल्म ‘जय गंगाजल’ एक अहम पड़ाव साबित...
0FansLike
0FollowersFollow
19,917SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Featured

Most Popular

यहां हो रहा गांधी के सपनों से खिलवाड़

अब बिहार विद्यापीठ का केवल नाम रह गया है। यहां न कोई शिक्षक है, न छात्र। महात्मा गांधी ने स्वावलंबन के जो सपने देखे...

Latest reviews

इस्लामिक आतंकवाद पर एकमत मोदी और ट्रंप

भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की व्हाइट हाउस में हुई पहली मुलाकात से दोनों के बीच एक प्रकार की...

नौकरशाह बने भ्रष्टाचारियों के संरक्षक

संस्कृति मंत्रालय के नौकरशाह भ्रष्टाचारियों के संरक्षक बने बैठे हैं। मंत्रालय से जुड़ी तकरीबन सभी संस्थाओं में यह चर्चा आम है। वे सहज ही...

इमरजेंसी का एक सच यह भी

जो सुनते आ रहे थे, वह सच ही निकला। जो कहानी का मुख्य पात्र था, वही अब हमें अपनी कहानी लिखकर बता रहा है। लिखा...

More News