नए तरह का संयुक्त परिवार

वर्षों से हम देख रहे हैं कि परिवार का रूप सिकुड़ता जा रहा है। आज से पचास साल पहले संयुक्त परिवार का मतलब घर...

बहानेबाज ‘बहनजी’

कौन ऐसी पार्टी है, जिसका अध्यक्ष चुनाव मैदान में सेनापति की भूमिका निभाने के लिए स्वयं उम्मीदवार नहीं है? जिसे प्रधानमंत्री की दावेदारी में...

पूरे देश की नजर महाराष्ट्र पर

भाजपा-शिवसेना का गठबंधन 2014 में जीती अपनी सीटों को बरकरार रखता हुआ नजर आ रहा है। अपनी सीटों को बचाने में इस गठबंधन को...

गठबंधन में पिछड़ा यूपीए

मंचों पर सभाओं में एक साथ नजर आने वाले विपक्षी दल चुनाव में गठबंधन नहीं कर पाए। इसके विपरीत यूपीए की तुलना में एनडीए...

कांग्रेस पर भारी भाजपा

उत्तराखंड की चुनावी बिसात पर भाजपा और कांग्रेस के बीच सीधा मुकाबला होगा। भले ही, प्रदेश में सपा और बसपा के बीच गठजोड़ है,...

मुद्दे की बात ‘राष्ट्रवाद’

चुनावी महासमर में मुद्दा मायने रखता है। विरोधी को परास्त उन्हीं के सहारे किया जाता है। विपक्ष ने जाने-अनजाने वह मौका सत्ता पक्ष को...

आधुनिक जीवन का आधार राष्ट्रीयता है!

संविधान सभा में पंडित जवाहरलाल नेहरू के लक्ष्य संबंधी प्रस्ताव पर दूसरे चरण की बहस महीने भर बाद फिर से शुरू हुई। इस अवधि...

बदल गए रोजगार के मायने

पिछले दिनों एक एजेंसी की रिपोर्ट आई, जिसमें यह कहा गया कि बेरोजगारी की दर बहुत बढ़ गई है। लोगों को उतने रोजगार नहीं...

कठिन चुनौती में दिग्विजय

चार महीने पहले तक चौराहे पर पस्तहाल पड़ी कांग्रेस को खड़ा करके सत्ता के शिखर पर पहुंचाने के लिए पसीना बहाते रहे पूर्व मुख्यमंत्री...

अबकी बार आतंक की जड़ पर प्रहार

मौका था गौतम गंभीर को भारतीय जनता पार्टी में शामिल करने की घोषणा का। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि मोदी सरकार मानती...

इतिहास से साक्षात्कार करें राहुल

कां ग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कार्यकलापों और नीतियों (विदेश नीति समेत) की लगातार आलोचना और भर्त्सना करते आ रहे हैं।...

आखिर मिल ही गया लोकपाल

मार्च 23 को देश के पहले लोकपाल पिनाकी चंद्र घोष ने शपथ ली है। शपथ ग्रहण के साथ ही देश को पहला लोकपाल मिल...

टूटते-बनते ये फिल्मी रिश्ते

ऐसी एक भी मिसाल नहीं है कि किसी हीरो ने हीरोइन पत्नी के करिअर को संवारने के लिए खुद घर बैठना मंजूर किया हो।...

आधुनिक समस्याओं का सनातन समाधान

  हमारे देश की वैचारिक बहसों में ‘पश्चिमी संस्कृति बनाम भारतीय संस्कृति’ का मुद्दा अक्सर विमर्श के केंद्र में होता है। पश्चिमी संस्कृति यानी वह...

चेचर : हर काल समाया है यहां की गंगा में!

आज 28 गांवों वाला चेचर ग्राम समूह, मूल वैशाली साम्राज्य होने का दावा करता है। रामपुकार सिंह आज करीब सौ साल के होने वाले हैं।...

आधी आबादी का पूरा हक

कंज्यूमर प्रोडक्ट बनाने वाली एक कंपनी के विज्ञापन का मशहूर पंच लाइन है-हक से मांगो। भारत में ट्रैफिक हवलदार से लेकर कचहरी के पेशकार...

राजनीतिक फलक पर तालिबान!

भारत-पाकिस्तान-रूस-चीन-ईरान जैसे पड़ोसी देशों के साथ-साथ, पूरी दुनिया की निगाहें, इस वक्त अफगानिस्तान पर लगी हुई हैं। अमेरिका ने 2001 से अफगानिस्तान में मौजूद,अपने...

नाभिकीय हथियारों की नई प्रतिस्पर्धा

अमेरिका का राष्ट्रपति बनने के बाद डोनाल्ड ट्रम्प ने अमेरिका की विदेश नीति में जो परिवर्तन किए हैं उनमें सबसे महत्वपूर्ण रूस से मध्यम...

अखिलेश की चुनौती शिवपाल!

सपा-बसपा गठबंधन तो बन गया। दोनों दल 38-38 सीटों पर चुनाव लड़ने की घोषणा भी कर चुके हैं। लेकिन गठबंधन की गांठें अभी तक...

राहुल कब तक बांट पाएंगे खैरात?

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने जिस दिन छत्तीसगढ़ में कहा कि उनकी पार्टी सत्ता में आई तो देश में हर गरीब को न्यूनतम आय...