28.1 C
delhi
Thursday, March 21, 2019

देश

रोहिंग्याओं पर रार

भारत में करीब  40,000 रोहिंग्या गैर कानूनी रूप से रह रहे हैं। इनमें जम्मू कश्मीर में  7,096, हैदराबाद में  3,059, हरियाणा के मेवात में  1,114, पश्चिमी उत्तर प्रदेश में  1200, दिल्ली में  1,061 और...

स्मृति में रहेंगे सदैव अटल

देश-दुनिया के लोग अब दिल्ली के ‘सदैव अटल’ स्थल पर पहुंचकर भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को अपनी श्रद्धांजलि अर्पित कर सकते हैं। अटल जी की यह समाधि राष्ट्रीय...

ममता-राज का विरोध गांव-गांव तक

भाजपा की रथयात्रा की धमक अब पश्चिम बंगाल राज्य सचिवालय ‘नवान्न’ तक पहुंच गयी है। दरअसल, भाजपा की ‘लोकतंत्र बचाओ यात्रा’ की इजाजत की मांग को लेकर पार्टी की एक टीम नवान्न...

हिन्द महासागर से प्रशांत महासागर तक

फ्रांस के राष्ट्रपति एमानुएल मैक्रॉन की भारत यात्रा विश्व राजनीति में भारत की बढ़ती पहुंच का एक और अवसर साबित हुई। घरेलू राजनीति में मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस फ्रांस से युद्धक विमान राफेल की खरीद...

मोदी सरकार का रिपोर्ट कार्ड

संसद के संयुक्त अधिवेशन में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने जो अभिभाषण पढ़ा, वह मोदी सरकार का साढ़े साढ चार साल का रिपोर्ट कार्ड कहा जा सकता है। जनधन योजना, मुद्रा योजना, कौशल विकास योजना, स्वच्छता अभियान,...

औंधे मुंह गिरे राहुल

कांग्रेस राख से उठने की कोशिश में लगी है। इसलिए सुप्रीम कोर्ट ने जब राफेल को फुस कर दिया, उसके बाद भी राहुल गांधी पूरा जोर लगा रहे हैं। यही दोहरा रहे हैं कि...

चुनावी समर के लिए तैयार

‘सीना तानकर लोगों के बीच जाइए, आपकी सरकार ने ढेरों ऐसे काम किए हैं जिन पर आपको गर्व होगा। ऐसा एक भी काम नहीं किया जिससे आपका सर नीचा हो।’ दिल्ली के रामलीला मैदान...

जनभावनाओं को समझें सरकार और सुप्रीम कोर्ट

विश्व के कोने-कोने में फैले 125 करोड़ हिंदू उच्चतम न्यायालय के रवैये से मर्माहत हैं। 29 अक्टूबर (2018) को राम मंदिर मामले पर सुनवाई के दौरान शीर्ष अदालत ने कहा कि हमारी प्राथमिकता में...

स्वच्छ भारत अभियान बना जनांदोलन

दो अक्टूबर 2019 को मनाये जाने वाले महात्मा गांधी की 150वीं जयंती वर्ष में प्रवेश के साथ ही स्वच्छ भारत अभियान अपने कार्यान्वयन के पांचवें और अंतिम वर्ष में पहुंच गया है। यह अभियान...

आंदोलन की राह पर किसान

किसान अपनी समस्याओं का समाधान चाहते हैं। फसल ऋण मांफी और फसल का लाभकारी दाम तय करने की मांग को लेकर अलग-अलग धरना-प्रदर्शन नहीं करेंगे। अब वे राष्ट्रीय स्तर पर किसानों का एक मंच...
- Advertisement -

LATEST NEWS

MUST READ